9 Dialogues जो Delhites की जुबां से आपने एक बार जरूर सुने होंगे



आपको मालुम है असली दिल्ली वाले की पहचान क्या है??? ना… इंडिया गेट और लाल किले जैसी इमारतें तो बाद की बात है, असली पहचान तो ये Dialogues हैं। आपको विश्वास नहीं होता !!! मत करिए विश्वास। जाइए, खुद एक बार और नोटिस कर लीजिए। मैं तो शर्त भी लगा सकती हूं कि अगर आप एक सप्ताह के लिए भी दिल्ली आए तो, ये Dialogues सुनकर ही घर जाएंगे। बस, मेट्रो, ऑटो, सड़क … कहीं भी आपको ये Dialogues  सुनने को मिल जाएंगे। अगर हम कहें कि ये Dialogues ही असली दिल्लीवाले की पहचान हैं तो, इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। एक बार खुद ही पढ़ लीजिए ये Dialogues…

 

1. तू जानता है, मेरा बाप कौन है?

ये तो दिल्ली में कदम रखते ही सुनने को मिल जाएगा।

Source

2. यार, इसे लाइसेंस किसने दे दिया!

3. साले अपनी औकात में रह कर बात कर!

4. ज्यादा भौंक मत, बाप हूं तेरा

Source

5. अपने बाप से रेस करेगा

Source

6. अबे अंधा है क्या?

7. इस देश का कुछ नहीं हो सकता

8. भाई देख, आगे ठुल्ला खड़ा है

9. तेरा भाई अभी जिंदा है!!

इनके अलावा भी आपने कोई Dialogue सुने हैं तो हमें जरूर बताएं।

 





Add a Comment

comments

Related Articles

More Articles

  • brazenfaced